खुले में शौच को जाती महिलाएं ,शौचालय योजना को पलीता लगता देखिए

Please Share This link

सागर मध्यप्रदेश

सागर-से एस एन पटेल की रिपोर्ट

शाहपुर। नगर में पिछले दो-तीन दिनों से खुले में शौच करने जा रहे नगर वासियों को नगर परिषद के कर्मचारियों द्वारा रोका जा रहा है जिससे उन लोगों और महिलाओं को परेशानी उठानी पड़ रही है जिनके घर में शौचालय निर्माण नहीं हुआ है फिर भी नगर परिषद द्वारा दावा किया जा रहा है कि हर घर में शौचालय निर्माण करवा जा चुका है जबकि वास्तविकता में नगर की आधे से ज्यादा आबादी खुले में शौच करने के लिए मजबूर है खुले में शौच करने जा रही कई महिलाओं और पुरुषों का कहना है कि पहले शौचालय बनवाओ उसके बाद खुले में शौच करने के लिए रुकना। ऐसे कई सारे हितग्राही है जिन्होंने शौचालय निर्माण के लिए नगर परिषद कार्यालय में 1400 रुपए जमा भी कर दिए हैं फिर भी भी उनके शौचालयों का निर्माण अभी तक नहीं हुआ है चूंकि दो-तीन दिनों से स्वच्छता सर्वेक्षण करने आज दिल्ली की टीम नगर में डेरा जमा हुए जिसके चलते नगर परिषद द्वारा दो-तीन दिनों से नगर वासियों को शौच करने के लिए दो मोबाइल शौचालय उपलब्ध कराए गए हैं नगर परिषद के कर्मचारियों और अधिकारियों द्वारा सर्वेक्षण करने आई टीम को उसी जगह का सर्वे कराया जा रहा है जहां पहले से साफ सफाई रहती है जिससे नगर को स्वच्छता की श्रेणी में प्रथम स्थान प्राप्त हो सके जबकि इसके उलट नगर में ऐसे कई गंदे स्थान और गंदी नालिया हैं जिन्हें आसानी से देखा जा सकता है लगभग 1 साल पहले बस स्टैंड पर सार्वजनिक शौचालय का निर्माण हो चुका था लेकिन उसको शुरू हुए लगभग 15 दिन हुए हैं जिसमें शौच करने के लिए 5 रुपये फीस ली जा रही है इसके अलावा नगर परिषद द्वारा खुले में शौच बंद करने के लिए कोई स्थाई उपाय नहीं किए गए हैं। स्वच्छता सर्वेक्षण करने आई टीम को नगर परिषद के सभी 15 वार्ड पार्षद द्वारा एक शपथ पत्र दिया जा रहा है जिसमें लिखा है कि प्रत्येक वार्ड शौच मुक्त है और कोई भी व्यक्ति खुले में शौच करने नहीं जा रहा है प्रत्येक मकान में शौचालय का निर्माण हो चुका है और जहां नहीं हुआ है वहां 200 मीटर की दूरी पर एक सार्वजनिक शौचालय बनवाया गया है ।
जबकि सर्वेक्षण करने आई टीम नगर के सभी वार्डों में स्वयं जाकर जांच करें तो नगर परिषद की स्वच्छता की पोल खुल जाएगी।
मुख्य नगरपालिका अधिकारी कैलाश दुबे का कहना है कि नगर में अभी तक परिषद द्वारा लगभग 550 शौचालयों का निर्माण करवाया जा चुका है और जिन लोगों के शौचालय नहीं बने है वो लोग 14 सो रुपए जमा कर शासन की योजना का लाभ ले सकते हैं और अपने घर में शौचालय निर्माण करवा सकते हैं लोगों को सोच करने के लिए रेन बसेरा, सार्वजनिक शौचालय और 2 अस्थाई मोबाइल शौचालयों की व्यवस्था की गई है उन लोगों को खुले में शौच करने से रोकने के लिए नगर परिषद के कर्मचारियों की टीमें सुबह 5:00 बजे से सक्रिय हो जाती हैं जिससे नगर को स्वच्छता में प्रथम स्थान प्राप्त हो सके क्योंकि अभी दिल्ली की टीम सर्वे करने शाहपुर में आई हुई है

Please Share This link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *