विषम परिस्थितियों में राहत पहुंचाना प्रशासन की जिम्मेदारी

Please Share This link

 

इटावा- भरथना कोरोना वायरस के बढते प्रकोप के चलते रोकथाम व बचाव के उद्देश्य से प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी द्वारा सम्पूर्ण देश में किये गये लाॅकडाउन के दौरान कुछ असहाय, गरीब मजदूर ऐसे हैं। जो दिहाडी मजदूरी के अभाव में भोजन-पानी के लिए तबाह बने हुए हैं। ऐसी विषम परिस्थितियों इन लोगों को राहत पहुँचाना प्रशासन की नैतिक जिम्मेदारी है।
नगर पालिका परिषद द्वारा जारी प्रेस विज्ञप्ति के माध्यम से उपजिलाधिकारी इन्द्रजीत सिंह व अधिशाषी अधिकारी रामआसरे कमल ने संयुक्त रूप से देते हुए बताया कि कोरोना वारयस के प्रकोप के कारण भारत बन्दी के दौरान असहाय, दिव्यांग, भीख माँगकर भरण पोषण करने वाले, अनाथ लोगों, कुछ मन्दबुद्धि व दिहाडी मजदूरों के पास भोजन की कोई समुचित व्यवस्था नहीं है। ऐसी स्थिति में नगर पालिका परिषद कम्युनिटी किचिन के माध्यम से इन व्यक्तियों को घर-घर निःशुल्क भोजन-पानी उपलब्ध करायेगा। अधिकारी द्वय ने नगरवासियों, व्यापारियों, समाजसेवी संस्थाओं, सभासदगणों से अपील की है कि यदि उनके संज्ञान में ऐसे व्यक्ति हैं, तो उनके नाम व पता तत्काल पालिकाध्यक्ष 9410222470, उपजिलाधिकारी 9454416440, तहसीलदार 9454416452, अधिशाषी अधिकारी 9412331435 के मोबाइल नम्बर पर प्रातः 8 से 10 बजे तक सूचित करें। ताकि प्रशासन द्वारा पका हुआ भोजन प्रातः 10 से 12 बजे के मध्य उनके आवास पर उपलब्ध कराया जा सके।

नितेश प्रताप ब्यूरो इटावा

Please Share This link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *