कोरोना से बचने के लिए बड़ौद गांव के युवाओं ने यह क्या कर दिया

Please Share This link

*”मंदसौर [म.प्र]”*
[1] गाँव के लोगों द्वारा बाहरी व्यक्तियों का प्रवेश निषेध
[2] घर में रहना हैं, कोरोना को हराना हैं..!

नमस्कार, देखते ही देखते 9 दिन बीत गए और केसे रहे वो 9 दिन. जी हाँ थोड़ी मुश्किल भरे जरूर हैं लेकिन उसके बावजूद 9 दिन बीत चुके हैं आज देश व्यापी लॉकडाउन का नोवा दिन था अभी 2 हफ्ते और हैं जिस तरीके से 9 दिन हमने बिताये हैं वैसे ही 2 हफ्ते और बिताने हैं और इन तीन हफ़्तों में यानी कि एक हफ्ता बिता हैं हम उनकी जानकारी पहुचाते रहे सूचनाये देते रहे. कोरोना से लड़ने के आपको तरीके बताते रहे. घर में आप बैठकर कैसे सुरक्षित रहे कैसे मुस्कारते रहे ये सब बताते रहे और अगले 12 दिन तक लगातार हम आपको बताते रहेंगे क्योकि इन सब की अभी जो प्रयोलिटी हैं प्राथमिकता हैं वो कोरोना को हराना हैं.
आज भी हमारी नजर कोरोना पर बनी हुई हैं शुरुवात करते हैं की सबसे पहले आपको बताते हैं कि कोरोना को लेकर अपडेट क्या हैं
इसी बीच मंदसौर से बड़ी खबर हैं जहाँ पर ग्रामीणों ने कोरोना को हराने के लिए एक अच्छी पहल चालू की हैं ना तो प्रशासन का दबाह हैं ना ही किसी ग्रामीण जनो का.
कोरोना की इस महामारी से निपटने के लिए गाँव के युवाओं ने गांव की सीमा को सील.कर दिया हम बात कर रहे मंदसौर जिले के सीतामऊ तहसील के गांव बड़ोद की जहां युवा ने बाहरी लोगों का प्रवेश बंद कर दिया है यही आपको बता दें कि देशभर में कोरोना वायरस से कई मौतें सामने आई है जिसको देखते हुए आस पास के कई गाँव सख्त हो गये हैं इसी कड़ी में बड़ौद के युवाओं द्वारा एक सराहनीय पहल की गई हैं जिसमे गांव के युवाओं ने मिलकर गांव को कोरोनावायरस से बचाने के लिए बाहरी व्यक्तियों का गांव आने पर प्रवेश रोक लगा दी गई. युवाओं ने सामाजिक संगठन बनाकर गांव में अस्थाई गेट बनाया जहां से आने जाने वाले लोग की नाम डायरी में एंट्री की जा रही है युवाओं द्वारा 2–2 घंटे कर युवा प्रवेश द्वार पर निगरानी भी रखी जा रही हैं. इस पहल की पूरे मंदसौर जिले में सराहना भी की जा रही है एवं युवाओं की जमकर तारीफ भी की जा

*मंदसौर से ललित शंकर की रिपोर्ट*

Please Share This link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *