सुर-सेतु अंतरराष्ट्रीय ऑनलाइन संगीत प्रतियोगिता में देश- विदेश के लगभग 3200 प्रतिभागियों ने रजिस्ट्रेशन कराया

Please Share This link

 

सतयुग दर्शन संगीत कला केन्द्र एवं सतयुग दर्शन विद्यालय द्वारा विगत 20 अप्रैल से सुर सेतु नामक ऑनलाइन संगीत प्रतियोगिता आयोजित की गई जिसमें भारत ही नहीं अपितु कनाडा, इंडोनेशिया और कुवैत आदि देशों के प्रतिभागियों ने भी भाग लिया। भारत व अन्य देशों की प्रतिभाएं एक साथ देखने को मिली यह इस प्रतियोगिता में आकर्षण का केंद्र रहा।
यह प्रतियोगिता एकल गायन, एकल वादन एवं एकल नृत्य पर आधारित थी, जिसमें भारत की धरोहर शास्त्रीय संगीत पर जोर दिया गया। प्रतिभागियों ने 2 से 3 मिनट का वीडियो बनाकर भेजा जिससे उनका मूल्यांकन किया गया।
प्रतिभागियों के मूल्यांकन हेतु भारत के सुप्रसिद्ध संगीतकारों को निर्णायक मंडल के रूप में चुना गया जिनमें से दिल्ली से सुप्रसिद्ध भजन गायक कुमार विशु , पंजाब से फिरोज खान प्लेबैक सिंगर, गुरुग्राम से डॉक्टर अ अमन बाटला पियानो वादक जो कि कई विश्व रिकॉर्ड बना चुके हैं, आगरा से वीरेंद्र भान उर्फ चुन्ना, पंजाब से म्यूजिक डायरेक्टर रामपाल बंगा, लुधियाना से कथक नृत्य में कुमार शर्मा जो कि फिल्मी जगत में अपनी नृत्य कला से जाने जाते हैं,कनाडा से डॉ अंजुल शर्मा, आगरा से कथक नृत्यांगना ज्योति खंडेलवाल, बेंगलुरु से मन्ज्मा प्रजित भरतनाट्यम एवं दीपेंद्र कान्त जो के संगीत कला केंद्र के प्रधानाचार्य हैं। इन सभी महान हस्तियों द्वारा सुर सेतु के विजेताओं को चुना गया।

सतयुग दर्शन संगीत कला केंद्र की चेयरपर्सन श्रीमती अनुपमा तलवार ने सभी प्रतिभागियों को हृदय से शुभकामनाएं देते हुए साथ में यह भी बताया कि सुर सेतु प्रतियोगिता में भाग लेने वाले प्रतिभागियों में से किसी भी तरह का कोई शुल्क नहीं लिया गया है अपितु सभी विजेताओं को नकद धन राशि एवं सर्टिफिकेट से सम्मानित किया जाएगा। संगीत के क्षेत्र में आगे बढ़ने के लिए इस तरह की प्रतियोगिताओं की सराहना करते हुए प्रतियोगिता का परिणाम इस प्रकार रहा-

Instrumental result – (3RD to 5TH)
1. Atharva R. Ghantennvar , Karnataka -i101-First Position
2. Swarit kansal-i113 Synthesizer, Vaishali – Second Position
3. Mehak- i124 Harmonium – Third Position

(6th to 8th class )

1. Gurnoor Singh, Punjab–i110- First Position
2. Jaspreet Singh, Chandigarh –i127- Second Position
3. Hamsini-i132 Synthesizer, Faridabad – Third Position
 
(9th to 11th –class)
Soham trivedi- Bombay – First Position
2. Manmeet singh- Jalandhar, Second Position
3. Sparsh- Faridabad – Third Position
 
(Open category) –
1. Chaitanya Sharma-i 107 Violin- Jalandhar- First position
2. Madhvi- i 111 Hawain guitar- Jalandhar- Second Position
3. Praduman Chandra- i 109 Violin- Lucknow- Third Position
 
Vocal Result –  (3RD to 5TH)
1. Hariaksha Sharma –V 144 R- Amritsar – First position
2. Arpita dey –V 102 R-New Delhi – Second position
3. Aaradhya Biyani –V 142 R- Faridabad -Third position

(6th to 8th class )

1. Anmol Raj – V 155- Hoshiarpur- First position
2. Vaibhav Sharma –V 140 – Chandigarh- Second position
3. Hamsini –V 105 – Faridabad- Third position
 
(9th to 11th –class)
1. Sulakshna deb –V 120- Chandigarh – First position
2. Pranav arora –V 147 – Faridabad- Second position
3. Sarah- V 163- Jalandhar- Third position
 
(Open category) –
1.Madhvi- V 135 – Jalandhar- First position
2. Gursewak Singh – V 119 – Hoshiarpur- Second position
3. Sagar Sharma V-118 – Chandigarh- Third position
 
Dance Result –
(3RD to 5TH  )      
1.Saanvi M Prajit D- D-1119 Banglore First
2. Hitanshi D-1154- Punjab – Second position
3. Arshiya Sharma  D-1102 Faridabad- Third position

(6th to 8th class )
1.Navya Minhas D–1102 Ludhiana- First position
2.Yashana Ahuja D-1101 Faridabad – Second position
3. Drisha jain D- 1150 Jalandhar – Third position
 
(9th to 11th –class)
1. Misha Puri- D1125 Jalandhar- First position
2. Sambhavi Jha D1149 Delhi – Second Position
3. Reet Kaur – D1123 Jalandhar – Third position
 
(Open category) –
1. Khushi Batra- D1111 Jalandhar – First position
2. Hitin Khurana- D1120 Ludhiana – Second Position
3. Reeya Khatri-D1108 Jalandhar – Third position

सतयुग दर्शन ट्रस्ट के मार्गदर्शक श्री सज्जन जी ने सुर सेतु के सभी प्रतिभागियों को शुभकामनाएं देते हुए आशीर्वचन में यह कहा कि सर्वहित को ध्यान में रखते हुए आज की स्थिति अनुसार प्रत्येक आयु वर्ग को संगीत के माध्यम से आंतरिक खुशी प्राप्त हो इसलिए यह प्रतियोगिता आयोजित कराई गई। इसी संदर्भ में सतयुग दर्शन वसुंधरा परिसर में सर्वांगीण विकास हेतु तरह-तरह की व्यवस्थाएं की गई है, जिसमें सतयुग दर्शन विद्यालय, सतयुग दर्शन, टेक्निकल कॉलेज, सतयुग दर्शन इंस्टीट्यूट ऑफ एजुकेशन एंड रिसर्च महावतपुर ग्राम के बच्चों व महिलाओं के लिए सिलाई केंद्र व पढ़ाई की समुचित व्यवस्था भी कराई गई है। इसके साथ ही विश्व का प्रथम स्कूल जहां से समभाव- समदृष्टि की शिक्षा दी जाती है, वह भी इसी परिसर में स्थित है जिससे कोई भी व्यक्ति इन सभी व्यवस्थाओं का पूर्ण लाभ उठा कर अपने जीवन को सुखमय बना सके। इसी संदर्भ में हर मानव को चारित्रिक रूप से सुंदर बनाने के प्रति प्रेरित करने के लिए ई मानवता ओलंपियाड का आयोजन किया जा रहा है। सब की जानकारी हेतु अब तक इसमें लगभग 45 लाख से भी अधिक बच्चे भाग ले चुके हैं। व इसके जरिए अच्छे मानवीय गुण अपना इंसानियत में ढल चुके हैं। आप भी चाहें तो humanityolampiad.org पर जाकर ओलंपियाड प्रतियोगिता में भाग ले सकते हैं और ₹100000 के तक के आवंटित की जाने वाली धनराशि प्राप्त कर के भागी बन सकते हैं।

Please Share This link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

अन्य ख़बरें